सोमवार, 29 अगस्त 2011

क्या आप जने फोंडा को जानते हैं?

आज कल जने फोंडा एक बार फिर सुर्ख़ियों में हैं। पर इस बार अपने किसी बयान या विरोध प्रदर्शन के लिए नहीं, अपनी सुन्दर, जवाँ और सेक्सी काया के कारण। अभी हाल में ही उनकी कुछ तस्वीरें जारी की गयी हैं। इन तस्वीरों को देख कर यह ज़रा भी अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है कि उनकी उम्र ७३ साल की है और वे दो प्रौढ़ व्यक्तियों की माँ हैं। इन तस्वीरों में दिखने वाली उनकी फीगर के हिसाब से वे हद से हद ३०-४० साल की महिला लग रही हैं, जिसको देख कर दुनिया का कोई भी पुरुष जहाँ झटके खा सकता है वहीं महिलायें ईर्ष्या से भर सकती है। और यह वाकई गौर करने वाली बात है। और सबसे ज्यादा गौर करने वाली बात यह है कि एक ज़माने की यह अमेरिकन एक्ट्रेस अपने उम्र के इस पड़ाव पर भी आज कल स्वास्थ्य एवं फैशन गुरु के रूप में काफी चर्चित एवं सक्रिय है।
जाने फोंडा का जन्म २१ दिसंबर १९३७ में हुआ था और उनका पूरा नाम लेडी जीने सेयमौर फोंडा है। अपने कर्रिएर की शुरुआत एक फैशन मोडल और फ़िल्मी एक्ट्रेस के रूप में करने वाली जने एक लेखक और राजनीतिक एक्टिविस्ट के रूप में भी काफी चर्चित रही हैं। एक एक्ट्रेस के रूप में उनको प्रसिद्धि लगभग १९६० के आस-पास मिलनी शुरू हुयी जब दर्शकों में उनकी "बर्बरेला"और "कैट बल्लोऊ" जैसी फ़िल्में हिट हो गयीं। जने को दो बार अकेडमी अवार्ड और कई एक फ़िल्मी अवार्ड मिल चुके हैं। और अपने ५० सालों के फ़िल्मी कर्रिएर में वे कई-कई बार पुरस्कारों के लिए नामांकित भी हो चुकी हैं। उनकी अन्य चर्चित फ़िल्में हैं "जूलिया" और "कमिंग होम"। १९९० के आसपास उन्होंने फिल्मों से लगभग सन्यास ले लिया। और सामाजिक एवं राजनीतिक गतिविधियों में सक्रिय रहने लगीं। १९८२ से १९९५ के बीच उन्होंने अपने कई स्वास्थ्य-वीडिओ रिलीज़ किये और कईयों में लीडिंग भूमिका भी निभायी। अपने पंद्रह वर्षों के फ़िल्मी सन्यास के बाद वे फिर से २००५ में "मोंस्टर इन ला " जैसी सशक्त फिल्म से वापस हुईं। और २००७ में "जॉर्जिया रूल" में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभायी। इस बीच २००६ में उनकी आत्मकथा प्रकाशित हुयी, जो न सिर्फ एक चर्चित बल्कि एक विवादस्पद किताब भी साबित हुयी। और अभी पिछले साल २०१० में उनका एक नया स्वास्थ्य विडियो लॉन्च और खूब पसंद किया गया है
जने अपने सामाजिक और राजनीतिक गतिविधियों के लिए भी खूब जानी जाती हैं। खास कर के वियतनाम के खिलाफ युद्ध और ईराक के ऊपर किये गए हमलों का सक्रिय विरोध-प्रदर्शन करने के कारण। यही नहीं,पूरी दुनिया में महिलाओं पर होने वाले अत्याचार और हिंसा का वे पुरजोर विरोध करती हैं। और इसके लिए उन्होंने रोबिन मोर्गन और ग्लोरिया स्टेनेम के साथ मिलकर २००५ में "विमेंस मीडिया सेंटर "की स्थापना भी की है। वे अपने आपको लिबरल और फेमिनिस्ट मानती हैं। और आज काल स्वास्थ्य और फिटनेस गुरु के रूप में पूरी दुनिया को शिक्षित-प्रशिक्षित कर रही हैं। देखें उनका अपना ब्लॉग
(चित्र न्यूज़ सोर्स डोट काम से साभार)

एक टिप्पणी भेजें